Tuesday, 7 January 2020

इंद्रधनुष के रोचक तथ्य जान लीजिये !

0
Indradhanush
बारिश के मौसम में कई बार हमें आसमान में रंग-बिरंगी आकृति दिखती है | इस तरह की आकृति अधिकतर भूमध्य रेखा के आसपास बनती है | क्या आप नें कभी सोचा है की वह मनोरम दृश्य कैसे उत्पन्न होता है ? ऐसा खूबसूरत नज़ारा रोज़ क्यूँ नहीं बनता ?
newshonda raibow
आप इंद्रधनुष को छु नहीं सकते हैं | सूर्य निचे होगा तो इंद्रधनुष ऊपर दिखेगा, सूर्य ऊपर होगा तो यह दृश्य निचे दिखेगा | चाँद की रौशनी से बनने वाला इंद्रधनुष दृश्य मूनबो कहा जाता है | कोहरे से बनने वाला इंद्रधनुष फोगबो कहलाता है | “इंद्रधनुष” शब्द लेटिन भाषा के “Arcus Pluvius” से लिया गया है | इसका अर्थ है “बरसात की चाप” |  
तो आइये आज आप को आसान भाषा में रेनबो (इंद्रधनुष) से जुड़े अनसुने तथ्य बता देते हैं |

इंद्रधनुष के 7 तथ्य

  1. सूर्य की रौशनी के आखरी 4 घंटे में सब से ज्यादा इंद्रधनुष के रंग नज़र आते हैं | इस तरह की आकृति अधिकतर किसी बहते झरने के पास बनती है |
  2. अमेरिका का हवाई राज्य “रेनबो स्टेट” कहा जाता है | चूँकि विश्व में सब से अधिक इंद्रधनुष दृश्य वहीँ उत्पन्न होता है |
  3. इंद्र धनुष के सात रंग: लाल, नारंगी, पीला, हरा, नीला, इंडिगो और बैंगनी |
  4. इंद्रधनुष के सात रंग याद रखने का आसन तरीका : इन सभी रंग के अंग्रेजी नाम के पहले अक्षर को याद कर लीजिये | (ROYGBIV) |
  5. पहले इंद्रधनुष के 5 रंग माने जाते थे | सन 1666 में आइजैक न्यूटन नें इसमें बैंगनी और नारंगी रंग जोड़े |
  6. वर्ष 1637 में रने डकोर्ट नें पहली बार यह तारण बताया की, इन्द्रधनुष सूर्य की रौशनी के बारिस की बूंदों से रिफ्लेक्ट होने पर दीखता है |
  7. इंद्रधनुष तभी दिखना संभव है जब सूरज आप के पीछे यानी पीठ की तरफ होता है |
Author Image

About PMB
Soratemplates is a blogger resources site is a provider of high quality blogger template with premium looking layout and robust design

No comments:

Post a comment